#8874 Wanna Fuel up ???

Gas Pump at Jupiter MarinaCould the refueling terminal come at a better time than this?

Cool breeze…slight drizzles and the Great Ocean Road, Australia. It was indeed the perfect time and perfect place to indulge in a long road trip! My wife and I packed our bags and like every other traveler double checked to ensure we were well prepared with emergency kits and a full loaded fuel tank!

The drive was one of the best we’ve ever been for. The pristine beauty of majestic mountains and untouched landscapes on one side, and an unending blue ocean on the other with mesmerizing reflective views, on the other. We drove for hours but it seemed as though in a blink of an eye, our fuel tank indicator began to play its blinking tricks!

We skipped the first fuel station that we crossed as we felt we could go a few more miles with the fuel reserve. However to our despair, our vehicle began to slow down , jolted and jerked to a halt. A wave of regret immediately plunged over us for not stopping at a fuel station when we saw one. We managed to get the car to the side of the express way but what made the situation worse was the torrential rain and thunder that blurred our vision too!

Frightened, we got out of the car with an umbrella, and our thoughts running haphazardly on what do the next. But as we opened our doors, we could not believe in our luck and destiny…. With God’s grace we were right outside a fuel station!

This definitely “amazed” us for our entire trip 🙂

क्या कभी आपको एक दम सही समय पर फ्यूल टर्मिनल मिला है?

मैं और मेरी बीवी एक दिन एक लम्बी ड्राइव पर जा रहे थे, ये ड्राइव ऑस्ट्रेलिया के विश्व प्रसिद्ध ‘ग्रेट ओसियन रोड’ की थी. हर ट्रैवलर के तरह हमनें भी हमारे हिसाब से सभी तय्यारी कर ली थी और साथ ही सभी इमरजेंसी की चीज़ें और फुल टैंक फ्यूल भी.
ये ड्राइव मेरी ज़िन्दगी की सबसे बढ़िया ड्राइव थी, इस ड्राइव पर रोड की एक तरफ पहाड़ और दूसरे तरफ कभी न ख़तम होने वाला समुद्र था. ड्राइव और भी रोचक तब हो गयी जब मौसम बारिश की वजह से और भी बेहतर हो गया. ये ड्राइव इतनी मोहक थी की पलक झपकते ही हमारी गाडी का फ्यूल इंडिकेटर आवाज करने लगा.

एक फ्यूल स्टेशन आया और चला गया, हमनें सोचा की अभी ही तो इंडिकेटर शुरू हुआ है, तो कम से कम अगले फ्यूल स्टेशन तक तो चली ही जायेगी. लेकिन थोड़ी ही देर बाद, गाडी में हमें थोड़े झटके महसूस होने लगे. ये महसूस होते ही, हमें तुरंत ही अपनी गलती की एहसास होने लगा और थोडा डर भी लगने लगा. धीरे धीर झटके बढ़ने लगे और हमारे पास गाडी रोकने के सिवा और कोई चारा ही नहीं बचा था. बारिश की वजह से ज्यादा दूर का दिखाई नहीं दे रहा था और हमें गाडी रोकना ही पड़ा, नहीं तो गाडी बीच रास्ते में ही रुक जाती.

इतना सब होने के वजह से हम बहुत डर से गए थे, और सोच रहे थे की अब यहाँ किसकी मदद ली जाए. यह सोचते ही हमने हमारा छाता निकाला और गाडी से निकलने का प्रयास करने के लिए दरवाज़ा खोला. हमें बाहर निकलते ही अपने भाग्य पर विश्वास ही नहीं हुआ, क्यूंकि हम एक दम फ्यूल स्टेशन के सामने ही खड़े थे.

हमें पूरे ट्रिप पर बहुत ही “आश्चर्यचकित” महसूस होता रहा 🙂

Advertisements

4 thoughts on “#8874 Wanna Fuel up ???

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s