#8884 WOW!!! 5 Minutes More in Life!!!

O'clock

Ever wished you would have 5 minutes more in your life?

“5 minutes” sounds very small amount of time, but this small time become very important when we are in desperate need of it. And, when we get those 5 minutes we can’t say a word but just let the feeling sink in. I love to sleep, and the most during morning hours. Sometimes, I even feel that I can give anything in return for the morning sleep. I feel sad that most of the things begin in morning, during childhood we were expected to go early to school, then after some years we have to reach early to our offices. It is even said that “early to rise, early to bed” but this “early to rise” part had always haunted me. Every night I used to set the alarm for the early hours, making promise to myself to get up on time. But, I failed regularly to keep my promises and put snooze to alarm every 5 minutes, thinking that the next 5 minutes’ sleep will bring me peace. And, I always left wondering to understand what that last 5 minutes sleep magic is, which even the 8 hours of night sleep could not bring to us. Daily, that 5 minutes sleep left me with nothing but “Amazed” 🙂

क्या आपने कभी सोचा है की काश आपके पास ५ मिनट और होते ?

“५ मिनट” सुनने में बहुत कम समय लगता है, पर ये कम समय बहुत ज़रूरी लगता है जब हमें इसकी सबसे ज्यादा ज़रूरत महसूस होती है. और जब हमें ५ मिनट मिल जाते हैं, तो हम कुछ कह भी नहीं पाते सिर्फ उसे अनुभव् करने में लग जाते हैं. मुझे नींद बहुत पसंद है और ख़ास तौर पर सुबह की नींद. कभी कभी तो मुझे ऐसा भी लगता है की अगर कोई मुझसे सुबह की नींद के बदले कुछ मांगे तो मैं उससे कुछ भी दे दूं. हमारे साथ हमेशा ही एक परेशानी रहती है की हमें सुबह सुबह ही सभी चीज़ों की शुरुआत करनी पड़ती है, जैसे की बचपन में स्कूल जाना, फिर थोड़े बड़े होने पर सुबह सुबह ऑफिस टाइम पर जाना. जहाँ तक हमारे देश में तो जल्दी उठने और जल्दी सोने पर बहुत जोर भी दिया जाता है. पर जल्दी उठाना तो मेरे लिए जैसे नामुमकिन है, हर रात अपनी घडी मे जल्दी सुबह का अलार्म लगाती हूँ और हर दिन खुद को दिया हुआ वादा नहीं निभा पाती. हर सुबह जब अलार्म बजता है तो मैं उससे सिर्फ अगले ५ मिनट के लिए स्नूज़ कर देती हूँ और ५ मिनट की नींद का मज़ा और लेती हूँ. तब मुझे ऐसा लगता है की जैसे उस सुबह के ५ मिनट की नींद में कुछ जादू है, क्यूंकि ये नींद रात के ८ घंटों की नींद से ज्यादा सुकून दे जाती है और मन में सिर्फ एक ही अनुभव होता है “अद्भुत” 🙂

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s